सफ़ाईकर्मी जो बन गई डिप्टी कलेक्टर – BBC News हिंदी

  • Share
आशा कंडारा

  • सुशीला सिंह
  • बीबीसी संवाददाता
22 जुलाई 2021, 11:54 IST

अपडेटेड 20 मिनट पहले

इमेज स्रोत, Dharmendra Kandara

कोई काम छोटा- बड़ा नहीं होता. ये बात कहने वाली आशा कंडारा इसकी ख़ुद एक जीती जागती मिसाल हैं.

राजस्थान के जोधपुर शहर से आने वाली 40 साल की आशा कंडारा ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा में 728वीं रैंक हासिल की है.

शायद ये पढ़कर आपको आश्चर्य ना हो, लेकिन जब आशा के सफ़र और संघर्ष को जानेंगे तो आप भी इस कामयाबी को बेमिसाल कहने से रुक नहीं पाएंगे.

आशा कंडारा ने बीबीसी को बताया कि उनके पिता राजेंद्र कंडारा फ़र्टिलाइज़र कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया में अकाउंट ऑफ़िसर थे और मां गृहस्थी संभालती थी.

Source link

  • Share